पड़ोसी निकला कोरोना पॉजिटिव तो घबराएं नहीं, तुरंत अपनाएं ये उपाय

Health & Fitness

क्‍या करें

घबराएं नहीं। अगर आपके पड़ोस में कोई कोरोना संक्रमित मरीज मिला भी है तो आप सलाह का पालन करें। अपने घर में ही रहें। संक्रमित मरीज का परिवार आइसोलेट किया जा चुका होगा। आपको बस अपना और परिवार का ध्यान रखना है। कोरोना मरीज और उनके परिवार के सदस्यों से दूरी बनाकर रखें

यदि आपका पड़ोसी निकल आए Corona Positive तो घबराएं नहीं रखें इन बातों का ध्यान |

मास्‍क लगाकर ही बाहर न‍िकले
मास्‍क लगाकर ही बाहर न‍िकले

कुछ र‍िपोर्ट की मानें तो ये वायरस हवा के जरिए भी फैलता है। खासकर, बंद जगहों में। इसल‍िए जब भी बाहर निकलें मुंह को कवर करके बाहर निकलें जो आपके मुंह पर एकदम फिट बैठें। हो सकें तो घर से न‍िकलते वक्‍त ड‍िस्‍पोजल ग्‍लव्‍ज पहन के न‍िकलें। ताक‍ि आप सार्वजन‍िक जगहों पर दरवाजों और सीढ़ियों की रैल‍िंग की सतह छूने से बचें।

ल‍िफ्ट या एल‍िवेटर छूने से बचें

ल‍िफ्ट या एल‍िवेटर छूने से बचें

सोशल ड‍िस्‍टेसिंग की पालना करने का मतलब के आसपास लोगों से न मिलें और एक जगह समूह न बनाएं इससे संक्रमितों को संक्रमण बनाने से रोका जा सकेगा। इसके अलावा जहां तक हो सकें ल‍िफ्ट का इस्‍तेमाल करने से बचें और सीढ़ियों का ही इस्‍तेमाल करें।

दरवाजों और सतहों को बार-बार ड‍िस्‍इंफेक्‍ट करें
दरवाजों और सतहों को बार-बार ड‍िस्‍इंफेक्‍ट करें

जल्‍द से जल्‍द अपने दरवाजे, लॉक, टेबल टॉप, लाइट स्विच, हैंडल से लेकर घर के हर मुख्‍य सतह को साफ करें और ड‍िस्‍इफेंक्‍ट करें।

स्‍टीम लें
स्‍टीम लें

जैसे ही आपको मालूम चलें क‍ि आपका पड़ौसी कोरोना पॉजिट‍िव है, तो द‍िन में पांच बार स्‍टीम लें। द‍िन में दो बार गर्म पानी से गरारे करें। साथ ही अपने डाइट में काढ़े को जगह दें।

अच्‍छे पड़ौसी बनें
अच्‍छे पड़ौसी बनें

जिस व्यक्ति को क्वारेंटाइन में रखा गया है। उसके प्रति दुर्भावना न रखें। वह हमारी बेहतरी के लिए है। संबंधित व्यक्ति को मानसिक और सामाजिक रूप से प्रताड़ित न करें। यह बहुत आपत्तिजनक है। जिस व्यक्ति के घर के बाहर होम क्वारेंटाइन का बोर्ड लगा हो, उसका फोटो खींचकर, सोशल मीडिया पर पोस्ट न करें। क्योंकि संबंधित मकान में रह रहा व्यक्ति केवल निगरानी में है। वह बीमार नहीं है।

सहानुभूति रखें
सहानुभूति रखें

क्‍वारेंटाइन में रह रहे व्यक्ति से सहानुभूति रखें । लेकिन, उत्साह में उससे गले न मिलें। हाथ न मिलाएं। जो संदिग्ध मरीज किराए गए मकान में रह रहे हैं और उन्हें क्वारेंटाइन में रहने कहा गया है तो संबंधित से मकान खाली करने को न कहें। वह किसी एसी बीमारी का मरीज नहीं है, जो हवा से फैलती हो।

 

Covid-19: कोरोना काल में शारीरिक संबंध के दौरान जरुर रखें इन खास बातों का ध्यान

ब्राज़ील को पछाड़ भारत बना दुनिया का दूसरा सबसे संक्रमित देश, रफ़्तार यही रहा तो भयावह है संभावित आंकड़े

उत्तर प्रदेश में कोरोना ने तोड़े अब तक के सारे रिकॉर्ड, एक दिन में सामने आए 6700 मामले

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *