सुशांत केस मामले में बिहार सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल किया हलफनामा, रिया की याचिका का विरोध

Entertainment

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत मामले में बिहार सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में एक हलफनामा दायर किया है जिसमें कहा गया है कि रिया चक्रवर्ती द्वारा दायर की गई स्थानांतरण याचिका गलत है और इसे बरकरार नहीं रखा जा सकता है। हलफनामे  में कहा गया है राज्य सरकार के पास इस मामले की जांच करने का अधिकार क्षेत्र है।

 

दरअसल बीते दिनों रिया चक्रवर्ती की ओर से दायर याचिक पर सुनवाई करते हुए सुप्र्रीम कोर्ट की न्यायमूर्ति ऋषिकेश रॉय की पीठ ने केस को ट्रांसफर किए जाने की मांग पर सभी पक्षों को तीन दिन के भीतर जवाब देने के लिए कहा था। इस दौरान कोर्ट ने कहा कि अभिनेता की मौत के मामले में सच्चाई सामने आनी चाहिए। सुप्रीम कोर्ट ने कहा- इसके बावजूद कि मुंबई पुलिस की पेशेवर प्रतिष्ठा अच्छी है, बिहार पुलिस ऑफिसर को क्वारंटाइन करने से अच्छा संदेश नहीं गया है। एक सप्ताह बाद फिर मामले की सुनवाई होगी। इसी मामले में बिहार सरकार ने अपनी तरफ से हलफनामा दायर किया है।

सुशांत सिंह केस: मुंबई में जबरन क्वारंटाइन किए गए बिहार के IPS विनय तिवारी को बीएमसी ने छोड़ा

 

रिया चक्रवर्ती ने सुप्रीम कोर्ट में दायर की थी याचिका
सुशांत की मौत होने के कुछ दिनों बाद उनके पिता कृष्ण किशोर सिंह ने 25 जुलाई को रिया चक्रवर्ती, उनके परिवार के सदस्यों और छह अन्य के खिलाफ उनके बेटे को आत्महत्या के लिए उकसाने को लेकर पटना पुलिस को शिकायत दर्ज कराई थी। इसके बाद बिहार पुलिस की किसी भी संभावित कार्रवाई से बचने के लिए अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी। इसमें में अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत को आत्महत्या के लिये उकसाने के आरोपों को लेकर पटना में दर्ज कराई गई एफआईआर मुंबई स्थानांतरित करने और बिहार पुलिस द्वारा की जा रही जांच पर रोक लगाने का कोर्ट से अनुरोध किया  था।

मिलिए सीबीआई की डीआईजी गगनदीप से, बिहार की IPS बेटी करेंगी सुशांत मामले की जांच

रिया ने ईडी से मोहलत मांगी
इधर सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस में प्रवर्तन निदेशालय ने आरोपी रिया चक्रवर्ती को आज मुंबई में पेश होने का नोटिस दिया था। इस मामले में पेश होने से पहले रिया ने ईडी के सवालों का सामना करने से बचने के लिए गुहार लगाते हुए सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई तक की मोहलत की मांग की है। यह जाानकारी उनके वकील सतीष मानेशिंदे ने दी है। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, सुशांत सिंह राजपूत केस में रिया चक्रवर्ती ने अनुरोध किया है कि प्रवर्तन निदेशालय के सामने उनके बयान की रिकॉर्डिंग सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई तक के लिए टाल दी जाए। बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत केस में आर्थिक पहलू से जांच कर रहा प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की टीम रिया की संपत्ति को खंगाल रही है।
 

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *