वत्सल सेठ ने तैमूर अली खान को लेकर कहा- इन्हें पसंद करने वाले लोग रोए नहीं, अगर वह आगे जाकर एक्टर बनते हैं

Entertainment

बॉलीवुड इंडस्ट्री में नेपोटिज्म की बहस छिड़ी है। इनसाइडर और आउटसाइडर, सभी इसपर खुलकर बोल रहे हैं। हाल ही में ‘टारजन’ फिल्म के चॉकलेटी ब्वॉय वत्सल सेठ ने इसपर अपनी राय रखी। उन्होंने स्टार किड्स का सपोर्ट करते हुए बयान दिया है। वत्सल कहते हैं कि हर फील्ड में माता-पिता अपने बच्चे को सपोर्ट करते हैं। ऐसे ही स्टार किड्स होते हैं, वे वही करना चाहते हैं जो उनके पैरेंट्स ने किया है। इसमें कोई गलत बात नहीं। 

वत्सल कहते हैं कि करीना कपूर खान और सैफ अली खान के बेटे तैमूर अली खान स्टार किड हैं। जो लोग तैमूर की फोटो और वीडियो के पीछे पागल रहते हैं वह कैसे कंप्लेंट कर सकते हैं नेपोटिज्म के बारे में। आगे जाकर अगर तैमूर एक्टर बनते हैं तो उनका कोई अधिकार नहीं कि लोग नेपोटिज्म से उनको जोड़ें। 

सुशांत सिंह राजपूत मामले में करण जौहर की बजाय उनके मैनेजर से पूछताछ करने पर कंगना रनौत ने साधा निशाना

‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ दिलीप जोशी उर्फ ‘जेठालाल’ ने मारी इंस्टाग्राम पर एंट्री, फैन्स से की खास अपील

वत्सल आगे कहते हैं कि नेपोटिज्म से कोई भी बड़ा या छोड़ा नहीं होता है। हर किसी को काम में मेहनत करनी पड़ती है। कार्तिक आर्यन और आयुष्मान खुराना ने बॉलीवुड में अपनी जगह खुद बनाई है। उन्होंने काफी मेहनत की है। वरुण धवन के पिता डायरेक्टर हैं, लेकिन इस बात को कोई इग्नोर नहीं कर सकता कि वरुण धवन ने बॉलीवुड में पहचान बनाने के लिए कितनी मेहनत की है। हां, एक आउटसाइडर के लिए इंडस्ट्री में चीजें काफी मुश्किल हो सकती हैं लेकिन नमुमकिन नहीं। मुझे सीनियर्स एक्टर्स से आगे बढ़ने का सहारा मिला है और मुझे नहीं लगता कि इंडस्ट्री में नेपोटिज्म है। 

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *