भारत-चीन के बीच सीमा विवाद पर बातचीत कल, दोनों देशों के राजनयिक करेंगे वार्ता

News Nation

नई दिल्ली: भारत और चीन के बीच जारी सीमा विवाद को लेकर कल यानी शुक्रवार को एक बार फिर बातचीत होगी. इस बार दोनों देशों के बीच राजनयिक स्तर की वार्ता होगी. दोनों देशों के राजनयिक सीमा विवाद को सुलझाने के लिए प्रयासों पर चर्चा करेंगे. आपको बता दें कि इससे पहले 14 जुलाई को कोर कमांडर लेवल की चौथी बैठक हुई थी. 

इससे पहले भारत ने गुरुवार शाम को कहा कि वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर शांति एवं स्थिरता कायम रखना चीन के साथ द्विपक्षीय संबंधों का आधार है. भारत उम्मीद करता है कि चीनी पक्ष पूर्वी लद्दाख से अपने सैनिकों को पूरी तरह हटाने में ईमानदरी बरतेगा.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने एक ऑनलाइन मीडिया ब्रीफिंग में कहा कि सीमावर्ती क्षेत्रों में शांति एवं स्थिरता कायम रखना हमारे द्विपक्षीय संबंधों का आधार है. इसलिए यह हमारी उम्मीद है कि विशेष प्रतिनिधियों के बीच बनी सहमति के अनुरूप चीनी पक्ष सीमावर्ती क्षेत्रों से पूरी तरह हटने और तनाव कम करने तथा पूर्ण शांति एवं स्थिरता बहाली के लिए हमारे साथ ईमानदारी से काम करेगा.

ये भी पढ़ें- IAF को मिलेंगी मारक HAMMER मिसाइलें, 60 किमी की रेंज में दुश्‍मन होगा ध्‍वस्‍त

पूर्वी लद्दाख में दोनों देशों की सेनाओं के बीच तनाव कम करने के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और चीन के विदेश मंत्री वांग यी के बीच पांच जुलाई को टेलीफोन पर लगभग दो घंटे तक बात हुई थी.

इस वार्ता के बाद दोनों पक्षों ने छह जुलाई से विवाद वाले स्थानों से अपने-अपने सैनिकों को पीछे हटाने की प्रक्रिया शुरू कर दी थी.

ये भी पढ़ें- देश को जल्द मिलने जा रहा है पहला थिएटर कमांड, जानें कैसे करेगा काम

श्रीवास्तव ने कहा, ‘हम यह भी स्पष्ट कर चुके हैं कि भारत एलएसी की निगरानी और इसका सम्मान करने के प्रति पूरी तरह कटिबद्ध है और हम एलएसी पर यथास्थिति को बदलने के किसी भी एकतरफा प्रयास को स्वीकार नहीं करेंगे.’

उन्होंने कहा कि विशेष प्रतिनिधियों के बीच वार्ता के दौरान दोनों पक्ष शांति एवं स्थिरता की पूर्ण बहाली के लिए एलएसी से सैनिकों को पूरी तरह हटाने तथा सीमावर्ती क्षेत्रों में तनाव कम करने के लिए सहमत हुए हैं.

ये भी देखें-

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *