बॉलीवुड में नाम कमाना चाहते हैं 24 साल के अयान, कश्मीर को लेकर ये है चाहत

News Nation

श्रीनगर: यूं तो कश्मीर हमेशा हिंसा के लिए खबरों में रहता है लेकिन इस बार ऐसा नहीं है, दरअसल ये कहानी है उस कश्मीर युवा की जो श्रीनगर डाउन टाउन इलाके में असामान्य हालातों में रहता था. लेकिन धीरे धीरे उसकी जिंदगी में बदलाव आया और अब वो बॉलीवुड में जगह बनाना चाहता है. अयान खान काफी समय से हिंदी फिल्मों में काम करने की सोच रहे थे और आखिरकार उसका सपना सच हो गया है. वो एक फिल्म और एक गीत में भूमिका निभाने का कांट्रैक्ट साइन कर चुके हैं लेकिन कोरोना महमारी के चलते फिलहाल वो प्रोजेक्ट अभी रुके हुए हैं. श्रीनगर के लोग अब इस युवा के जोश को देखकर फक्र महसूस करते हैं. 

टैलेंट की कमी नहीं
अयान के मुताबिक उसने बहुत मेहनत की और उनका ये भी मानना है कि अगर इंसान में कुछ पाने की हसरत है तो उसे अपनी कोशिश में जी जान से जुटे रहना चाहिए. अयान का ये भी मानना है कि कश्मीर में हुनर की कमी नहीं बस युवाओं को मौका देने की जरूरत है. सही प्लेटफार्म मिल जाए तो जिंदगी बन जाती है और कामयाबी के लिए शॉर्टकट भी नहीं अपनाना चाहिए.  

मुश्किल था सफर
24 साल के अयान के पास बिज़नेस मैनेजमेंट की डिग्री है, लेकिन बॉलीवुड उसके दिल के ज्यादा करीब है. बचपन से फिल्मों में दिलचस्पी रखने वाले अयान को उम्मीद है कि उनका सपना एक दिन जरूर साकार होगा. एक रुढिवादी परिवार में पैदा हुए अयान को अपने घर वालों को समझाना आसान नहीं था. जैसे तैसे उन्हे मनाया तो कश्मीर के कट्टरपंथियों ने उसके आगे मुश्किलें खड़ी कर दीं. कश्मीर में उसे काफ़ी विरोध झेलना पड़ा, उसके पोस्टर बैनर तक फाड़ दिए गए लेकिन उसने हिम्मत नहीं हारी. अयान इसी के साथ घाटी के युवाओं का रोल मॉडल बनना चाहते हैं. 

किंग खान हैं आइडियल
अयान शाहरुख खान के बहुत बड़े फैन हैं. फिल्मों में काम करने का प्रेरणा उन्हे किंग खान से मिली. बॉलीवुड का कश्मीर कनेक्शन 60 और 70 के दशक से है, वो भी दौर था जब कश्मीर के बिना कोई बॉलीवुड फिल्म शूट नहीं होती थी. कम से कम फ़िल्म का एक गाना तो कश्मीर घाटी में जरूर शूट होता था. अयान अब उस दौर को दोबारा देखना चाहते हैं, खुद बॉलीवुड फिल्मों का हिस्सा बनना चाहते हैं. उनकी ये हसरत भी है कि कश्मीर में अमन और चैन लौटे और वो अपने क्षेत्र का भी नाम रोशन कर सकें. 

/*************************************/ /*$(window).scroll(function(){ var last = $('div.listing').filter('div:last'); var lastHeight = last.offset().top ; if(lastHeight + last.height() < $(document).scrollTop() + $(window).height() && nextload==true){ //console.log("**get data"); var circle = ""; var myTimer = ""; var interval = 30; var angle = 0; var Inverval = ""; var angle_increment = 6; $.ajax({ url: "/hindi/news/article-list.php" + cat + nextpath, async: true, dataType: "json", beforeSend: function() { $('div.listing').append(load); nextload=false; //console.log("/micros/article-list.php" + cat + nextpath); ice = 1; circle = $('.center-section').find('#green-halo'); myTimer = $('.center-section').find('#myTimer'); angle = 0; Inverval = setInterval(function (){ $(circle).attr("stroke-dasharray", angle + ", 20000"); //myTimer.innerHTML = parseInt(angle/360*100) + '%'; if (angle >= 360) { angle = 1; } angle += angle_increment; }.bind(this),interval); }, success: function(data){ nextload=false; //console.log("success"); //console.log(data); $.each(data['rows'], function(key,val){ //console.log("data found"); ice = 2; if(val['id']!='724483'){ string = '

' + val["title"] + '

' + val["summary"] + '

'; $('div.listing').append(string); } }); }, error:function(xhr){ //console.log("Error"); //console.log("An error occured: " + xhr.status + " " + xhr.statusText); nextload=false; }, complete: function(){ $('div.listing').find(".loading-block").remove();; pg +=1; //console.log("mod" + ice%2); nextpath = '&page=' + pg; //console.log("request complete" + nextpath); cat = "?cat=17"; //console.log(nextpath); nextload=(ice%2==0)?true:false; } }); setTimeout(function(){ //twttr.widgets.load(); //loadDisqus(jQuery(this), disqus_identifier, disqus_url); }, 6000); } //lastoff = last.offset(); //console.log("**" + lastoff + "**"); });*/ /*$.get( "/hindi/zmapp/mobileapi/sections.php?sectionid=17,18,19,23,21,22,25,20", function( data ) { $( "#sub-menu" ).html( data ); alert( "Load was performed." ); });*/ function fillElementWithAd($el, slotCode, size, targeting){ if (typeof targeting === 'undefined') { targeting = {}; } else if ( Object.prototype.toString.call( targeting ) !== '[object Object]' ) { targeting = {}; } var elId = $el.attr('id'); console.log("elId:" + elId); googletag.cmd.push(function(){ var slot = googletag.defineSlot(slotCode, size, elId); for (var t in targeting){ slot.setTargeting(t, targeting[t]); } slot.addService(googletag.pubads()); googletag.display(elId); //googletag.pubads().refresh([slot]); }); } var maindiv = false; var dis = 0; var fbcontainer = ''; var fbid = ''; var ci = 1; var adcount = 0; var pl = $("#star724483 > div.field-name-body > div.field-items > div.field-item").children('p').length; var adcode = inarticle1; if(pl>3){ $("#star724483 > div.field-name-body > div.field-items > div.field-item").children('p').each(function(i, n){ ci = parseInt(i) + 1; t=this; var htm = $(this).html(); d = $("

"); if((i+1)%3==0 && (i+1)>2 && $(this).html().length>20 && ci