पकड़ा गया 25 हजार का इनामी, इस शातिर तरीके से करता था LIC धारकों से ठगी

News Nation

नई दिल्ली: क्राइम ब्रांच (Crime Branch) ने दिल्ली से होटल मैनेजमेंट की पढ़ाई करने के बाद एलआईसी धारकों से ठगी के लिए कॉल सेंटर चलाने वाले एक शातिर जालसाज को धर दबोचा है. आरोपी का नाम सुमित है और वो हरियाणा के भिवानी के न्यू पुलिस लाइन का रहने वाला है.

बता दें कि इससे पहले सुमित को कोर्ट ने भगोड़ा घोषित कर चुकी है और दिल्ली पुलिस ने इसके ऊपर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया हुआ है. आरोपी को एलआईसी धारकों से ठगी करने के मामले में मुंबई पुलिस भी एक बार गिरफ्तार कर चुकी है.

आरोपी सुमित के निशाने पर मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र के लोग थे. पुलिस के मुताबिक साल 2015 एलआईसी के दिल्ली के कार्यकारी निदेशक ने एक शिकायत दर्ज करवाई थी कि कुछ लोग खुद को एलआईसी कर्मचारी बताकर लोगों से उनकी पॉलिसी, पैन नंबर, जन्मतिथि आदि की जानकारी लेकर ठगी कर रहे हैं.

कुछ पॉलिसी धारकों से बियॉन्ड यात्रा ड्रीम कम प्राइवेट लिमिटेड और लाइट इंडिया क्लब प्राइवेट लिमिटेड के नाम से चेक भी लिए गए हैं. ठगी करने के बाद बदमाश पॉलिसी धारकों से संपर्क बंद कर देते थे.

पुलिस को जांच में ये पता लगा कि ठगी महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश के लोग से की गई है और इसके लिए फर्जी आईडी के सिम का प्रयोग किया गया है. पुलिस ने जांच में सुमित, अविनाश और कई आरोपियों की पहचान की. काफी प्रयास के बावजूद सुमित को पुलिस पकड़ नहीं सकी.

ये भी पढ़े- रिश्ते हुए शर्मसार! कलियुगी मामा ने नाबालिग भांजी से किया दुष्कर्म, गिरफ्तार

फिर कोर्ट ने सुमित को भगोड़ा घोषित किया और दिल्ली पुलिस की तरफ से उसके ऊपर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया. पूछताछ में सुमित ने बताया कि होटल मैनेजमेंट का कोर्स करने के बाद उसने ठगी करने के लिए नोएडा में कॉल सेंटर खोला था. उसने अन्य कॉल सेंटर के साथ संपर्क बनाया और डेटा वेंडर उससे मिलने आते थे. वो पॉलिसी धारकों के नाम, पता, मोबाइल नंबर, खाता विवरण, बीमा पॉलिसी विवरण आदि उपलब्ध करवाते थे.

डाटा की जांच कॉल सेंटर के निदेशक के रूप में सुमित करता था और उसमें से नाम पते चुनकर टेली कॉलर को देता था. यहां से पॉलिसी धारक के पास फोन जाता और उसे झांसा देकर फर्जी नामों से खोले गए बैंक खातों में और दूसरे बहाने पैसे ट्रांसफर करने या चेक देने को तैयार कर लेते थे.

LIVE TV

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *