दिल्ली: रेप पीड़िता मासूम की हालत नाजुक, हो सकती है एक और सर्जरी

News Nation

नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) में शारीरिक प्रताड़ना और यौन उत्पीड़न का शिकार हुई 12 वर्षीय बच्ची की हालत नाजुक बनी हुई है और उसे वेंटिलेटर पर रखा गया है. अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) के सूत्रों ने शुक्रवार को ये जानकारी दी. बच्ची को गुरुवार रात को अस्पताल के न्यूरो सर्जरी आईसीयू में स्थानांतरित किया गया.

सूत्रों के मुताबिक बच्ची की हालत नाजुक है और वो वेंटिलेटर पर है. उसे न्यूरो सर्जरी की जरूरत पड़ सकती है लेकिन उसके शरीर में प्लेटलेट काउंट कम हैं. बच्ची की हालत पर नजर रखी जा रही है, उसके सिर पर गंभीर चोट आई है.

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने कहा कि उन्होंने फोन पर बच्ची के माता पिता और डॉक्टर से बात की है.

केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘यौन उत्पीड़न का शिकार हुई 12 वर्षीय बच्ची के डॉक्टरों और माता पिता से मैंने फोन पर बात की है. कल अस्पताल जाकर मैंने बच्ची का हालचाल लिया था. वो जिंदगी और मौत से जूझ रही है. डॉक्टर पूरी कोशिश कर रहे हैं. कृपया उसके लिए प्रार्थना करें. इस बीच पुलिस ने एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है.’

बता दें कि मंगलवार को कृष्ण नामक एक 33 वर्षीय शख्स ने पश्चिमी दिल्ली स्थित बच्ची के घर में घुसकर उसका यौन उत्पीड़न किया और उसके चेहरे और सिर पर तेज धार वाले हथियार से वार किया.

एम्स के एक वरिष्ठ डॉक्टर ने गुरुवार को बताया था कि बच्ची का मलाशय और आंतें बुरी तरह जख्मी थीं. शायद कोई चीज उनके अंदर डाली गई थी जिसके कारण बच्ची को तुरंत इलाज की जरूरत थी और उसके यहां आते ही सर्जरी की गई.

ये भी पढ़े- केरल विमान हादसा: क्रैश लैंडिंग, चश्मदीदों ने बताया कितना खतरनाक था वो मंजर

वीभत्स तरीके से किए गए इस अपराध को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ‘बर्बर’ करार दिया. दिल्ली पुलिस ने गुरुवार को आरोपी कृष्ण को गिरफ्तार किया.

पूछताछ में कृष्ण ने पुलिस को बताया कि वो मंगलवार को चोरी के इरादे से घर में घुसा था. मकान का दरवाजा थोड़ा खुला देखकर वो अंदर चला गया. वो एक सूटकेस लेकर भाग ही रहा था कि बच्ची ने शोर मचा दिया.

दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि आरोपी ने सिलाई मशीन उठाकर बच्ची पर फेंकी. बच्ची ने फिर भी लड़ना नहीं छोड़ा, इसके बाद आरोपी ने उसके शरीर पर कैंची से कई जगह वार किया और वहां से फरार हो गया. हालांकि पुलिस का कहना है कि वो कृष्ण की कहानी का सत्यापन कर रही है.

पश्चिम विहार पुलिस पहले ही इस संबंध में आईपीसी की धारा 307 (हत्या का प्रयास) और पॉक्सो कानून के तहत मामला दर्ज कर चुकी है.

गौरतलब है कि कृष्ण पहले भी ऐसा अपराध कर चुका है और उसमें पीड़ित महिला की मौत हो गई थी. इस बीच दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने एम्स में पीड़िता के माता पिता से मुलाकात की और फास्ट ट्रैक कोर्ट में मामले की सुनवाई की मांग की.

उन्होंने पीड़िता के माता पिता को आर्थिक सहायता की देने पेशकश की और मांग की कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा दी गई 10 लाख रुपये की सहायता राशि को बढ़ाया जाए.

LIVE TV

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *