चीन के साथ विवाद का असर, IPL से अलग होगी चीनी मोबाइल कंपनी VIVO!

Sports

नई दिल्ली: भारत और चीन के बीच बढते राजनयिक तनाव के बीच चीनी मोबाइल फोन कंपनी वीवो (VIVO) इस साल इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के ‘टाइटल स्पॉन्सरशिप’ से पीछे हट सकती है और आपसी सहमति से अलग होने के लिए भारतीय क्रिकेट बोर्ड से बातचीत चल रही है. इस एक साल को स्थगन अवधि के रूप में देखा जा सकता है और संबंध बेहतर होने पर बीसीसीआई 2021 से 2023 के बीच कंपनी के साथ 3 साल का नया अनुबंध कर सकता है. आईपीएल इस साल 19 सितंबर से 10 नवंबर के बीच यूएई में होगा.

यह भी पढ़ें- वर्ल्ड कप 2019 में न खेल पाने पर युवराज सिंह ने किया खुलासा, धोनी को लेकर कही ये बात

बीसीसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने पीटीआई को बताया, ‘बीसीसीआई के पदाधिकारियों (अध्यक्ष सौरव गांगुली और सचिव जय शाह) और कंपनी के प्रतिनिधियों के बीच बातचीत चल रही है । ऐसी पूरी संभावना है कि इस साल टाइटल प्रायोजक वीवो नहीं होगा.’ पूर्वी लद्दाख में दोनों देशों की सेनाओं के बीच हिंसक झड़प के बाद बीसीसीआई ने कहा था कि वह करार की समीक्षा करेगा. उस झड़प में 20 भारतीय सैनिक शहीद हो गए थे जिसके बाद चीन की कंपनियों और उत्पादों के बहिष्कार की मांग की जा रही है.

LIVE TV

आईपीएल की संचालन परिषद ने रविवार को कहा था कि वीवो समेत उसके सभी प्रायोजक बरकरार रहेंगे. वीवो 2022 तक 5 साल के करार के लिए 440 करोड़ रूपये सालाना देता है. बोर्ड के अधिकारी ने बताया कि फैसला जब भी होगा, आपसी सहमति से होगा और बोर्ड बैंक गारंटी को भुनाने पर विचार नहीं कर रहा है. अधिकारी ने कहा, ‘अलग अलग हालात में अगर प्रायोजक वादा पूरा नहीं कर पाता है तो बोर्ड बैंक गारंटी भुनाता है जो पहले भी किया गया है. लेकिन यहां दोनों पक्ष आपसी सहमति से समाधान तलाश रहे हैं.’

केंद्र सरकार के 60 चीनी एप और सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर प्रतिबंध लगाने के बाद चीनी प्रायोजकों को बरकरार रखने के बीसीसीआई के फैसले पर सवाल उठ रहे थे. अधिकारी ने कहा, ‘यह संवेदनशील समय है और हमें एहतियात बरतनी होगी. एक बार हम कह दें कि प्रायोजन की समीक्षा करेंगे और फिर कुछ नहीं करें तो इससे चीनी कंपनियों के साथ संबंधों को लेकर सवाल उठेंगे.’

बीसीसीआई एक साल के प्रायोजन करार के लिए कई भारतीय कंपनियों से भी बात कर रहा है. अधिकारी ने कहा, ‘इतने कम समय में इतनी बड़ी रकम (440 करोड़ रूपये) मिलना तो मुश्किल है और टूर्नामेंट भी विदेश में हो रहा है. खाली स्टेडियम में मैच होंगे. हम उस पर तब बात करेंगे जब वीवो आधिकारिक रूप से अलग हो जायेगा.’
(इनपुट-भाषा)

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *