इस कमेंटेटर ने ऋषभ पंत को बताया था ‘खच्चर,’ हाशिम अमला को कहा था ‘आतंकवादी’

Sports

नई दिल्ली: जब भी क्रिकेट का खेल खेला जाता है तो मैदान पर सिर्फ खिलाड़ी ही नहीं बल्कि कमेंट्री करने वाले कमेंटेटर्स भी अहम भूमिका निभाते हैं, एक कमेंटेटर पूरे माहौल को बांधे रखता है. उनकी टिप्पणियों से दर्शकों का मनोरंजन होता है, मगर कभी-कभी खिलाड़ियों पर की गई उनकी टिप्पणियां उन्हीं पर भारी पड़ जाती हैं. कुछ ऐसा ही ऑस्ट्रेलिया के पूर्व बल्लेबाज डीन जोंस (Dean Jones) भी कर चुके हैं. डीन जोंस को क्रिकेट की दुनिया के बेस्ट कमेंटेटर्स की श्रेणी में रखा जाता है. लेकिन उनका बड़बोलापन कई बार उन्हीं पर भारी पड़ा है. डीन जोंस ने भारतीय क्रिकेटर ऋषभ पंत (Rishabh Pant) और साउथ अफ्रीका के पूर्व बल्लेबाज हाशिम अमला (Hashim Amla) के बारे में विवादित टिप्पणियां की थी, जिसके बाद सोशल मीडिया पर उन्हें काफी ट्रोल किया गया था.

डीन जोंस ने टीम इंडिया के खिलाड़ी ऋषभ पंत को खच्चर बता दिया था. जोंस ने कहा था कि पंत एक युवा प्लेयर हैं और इस वक्त सीखने के दौर में हैं. ऋषभ पंत ऑफ साइड में अच्छा नहीं खेल पाते और उन्हें इसके लिए मेहनत करने की जरूरत है. इसके अलावा डीन जोंस ने कहा था कि ऋषभ पंत फिलहाल रेस के घोड़े नहीं बल्कि खच्चर हैं. 

इस बारे में बात करते हुए जोंस ने कहा था, ‘पंत अभी एक युवा खिलाड़ी हैं, वो अभी सीख रहे हैं, उन्हें ये नहीं पता कि हो क्या रहा है. पंत को ऑफ साइड की ओर अपने स्ट्रोक्स पर काम करने की जरूरत है. फिलहाल वो एक तरफ जाने वाले खच्चर हैं. हमें पता है कि वो ऑफ साइड में खेल सकते हैं लेकिन उन्हें और मेहनत की जरूरत है. उन्हें गेम बदलने में ज्यादा समय नहीं लगेगा, पंत को बस अच्छे ट्रेनिंग प्रोग्राम की जरूरत है.’

ऋषभ पंत के अलावा डीन जोंस ने साल 2006 में श्रीलंका और साउथ अफ्रीका के बीच चल रहे टेस्ट मैच में कमेंट्री करते हुए हाशिम अमला पर हमला बोला था. उस वक्त उन्होंने हाशिम के लिए कुछ ऐसा कह दिया था कि उन्हें उस बयान की वजह से कमेंट्री करने से भी बैन कर दिया गया था. जोंस ने उस दौरान अमला को आतंकवादी कह दिया था. उस मुकाबले में अमला ने जैसे ही कैच पकड़ा तो जोंस ने उनपर कमेंट करते हुए कहा था कि आतंकवादी ने एक और कैच ले लिया.

जोंस की इस टिप्पणी की वजह से उन्हें मैच का प्रसारण करने वाले चैनल ने कमेंट्री टीम से भी बाहर कर दिया था. उनकी इस हरकत के बाद उन्हें सोशल मीडिया पर भी फैंस का गुस्सा झेलना पड़ा था. हालांकि बाद में उन्हें अपनी गलती का अहसास हुआ, जिसके बाद जोंस ने हाशिम अमला से माफी भी मांगी थी.

लोडिंग

'; var cat = "?cat=26";

/*************************************/ /*$(window).scroll(function(){ var last = $('div.listing').filter('div:last'); var lastHeight = last.offset().top ; if(lastHeight + last.height() < $(document).scrollTop() + $(window).height() && nextload==true){ //console.log("**get data"); var circle = ""; var myTimer = ""; var interval = 30; var angle = 0; var Inverval = ""; var angle_increment = 6; $.ajax({ url: "/hindi/news/article-list.php" + cat + nextpath, async: true, dataType: "json", beforeSend: function() { $('div.listing').append(load); nextload=false; //console.log("/micros/article-list.php" + cat + nextpath); ice = 1; circle = $('.center-section').find('#green-halo'); myTimer = $('.center-section').find('#myTimer'); angle = 0; Inverval = setInterval(function (){ $(circle).attr("stroke-dasharray", angle + ", 20000"); //myTimer.innerHTML = parseInt(angle/360*100) + '%'; if (angle >= 360) { angle = 1; } angle += angle_increment; }.bind(this),interval); }, success: function(data){ nextload=false; //console.log("success"); //console.log(data); $.each(data['rows'], function(key,val){ //console.log("data found"); ice = 2; if(val['id']!='719589'){ string = '

' + val["title"] + '

' + val["summary"] + '

'; $('div.listing').append(string); } }); }, error:function(xhr){ //console.log("Error"); //console.log("An error occured: " + xhr.status + " " + xhr.statusText); nextload=false; }, complete: function(){ $('div.listing').find(".loading-block").remove();; pg +=1; //console.log("mod" + ice%2); nextpath = '&page=' + pg; //console.log("request complete" + nextpath); cat = "?cat=26"; //console.log(nextpath); nextload=(ice%2==0)?true:false; } }); setTimeout(function(){ //twttr.widgets.load(); //loadDisqus(jQuery(this), disqus_identifier, disqus_url); }, 6000); } //lastoff = last.offset(); //console.log("**" + lastoff + "**"); });*/ /*$.get( "/hindi/zmapp/mobileapi/sections.php?sectionid=17,18,19,23,21,22,25,20", function( data ) { $( "#sub-menu" ).html( data ); alert( "Load was performed." ); });*/ function fillElementWithAd($el, slotCode, size, targeting){ if (typeof targeting === 'undefined') { targeting = {}; } else if ( Object.prototype.toString.call( targeting ) !== '[object Object]' ) { targeting = {}; } var elId = $el.attr('id'); console.log("elId:" + elId); googletag.cmd.push(function(){ var slot = googletag.defineSlot(slotCode, size, elId); for (var t in targeting){ slot.setTargeting(t, targeting[t]); } slot.addService(googletag.pubads()); googletag.display(elId); //googletag.pubads().refresh([slot]); }); } var maindiv = false; var dis = 0; var fbcontainer = ''; var fbid = ''; var ci = 1; var adcount = 0; var pl = $("#star719589 > div.field-name-body > div.field-items > div.field-item").children('p').length; var adcode = inarticle1; if(pl>3){ $("#star719589 > div.field-name-body > div.field-items > div.field-item").children('p').each(function(i, n){ ci = parseInt(i) + 1; t=this; var htm = $(this).html(); d = $("

"); if((i+1)%3==0 && (i+1)>2 && $(this).html().length>20 && ci